7th pay commission latest news
Business News

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए आई बड़ी खबर, अभी जानिए पूरी खबर 

7th pay commission latest news : हेलो नमस्कार दोस्तों एक बार फिर से एक नए और फ्रेश आर्टिकल में आप सभी दोस्तों का बहुत-बहुत स्वागत है साथियों आज की इस आर्टिकल में हम आप सभी को बताएंगे कि अगर आप भी एक केंद्रीय कर्मचारी हैं तो आप सभी के लिए एक बड़ी खुशखबरी निकल कर आ रहे हैं इसलिए आप सभी इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ेंगे तो आपको बहुत सारी खुशखबरी देखने को मिल सकते हैं तो आईए जानते हैं इस आर्टिकल में केंद्रीय कर्मचारी के महंगाई भत्ता से जुड़ी हर एक जानकारी को इसके लिए इस आर्टिकल के अंत तक बन रहे।

7th pay commission latest news

आपकी जानकारी के लिए बता दे की केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता के लिए नया अपडेट आया है। केंद्र सरकार ने जनवरी 2024 के लिए महंगाई भत्ता (डीए बढ़ोतरी) बढ़ाकर 50% कर दिया है। लेकिन अब इसकी गणना बदल रही है। जुलाई 2024 से मंहगाई भत्ता की गणना शून्य (0) से शुरू होगी। हालांकि इसकी संख्या जनवरी से जून के बीच AICPI सूचकांक के आधार पर तय होगी। जनवरी के AICPI नंबर फरवरी में जारी किए गए थे। इसलिए, महंगाई भत्ते में 1% की वृद्धि हुई थी। यानी यह 51% था। हालांकि, फरवरी के AICPI नंबर अभी जारी नहीं हुए हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या शून्य पर जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है?

कैलकुलेशन शून्य से शुरू होगी 

बता दे की केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (डीए) का गणित 2024 में बदल जाएगा। 1 जनवरी से कर्मचारियों को उनके डीए का 50% मिलेगा। नियम के मुताबिक, 50% महंगाई भत्ता मिलने के बाद इसे मूल वेतन में मिला दिया जाएगा और इसकी गणना नए सिरे से शुरू होगी। हालांकि, श्रम विभाग ने अभी इस बारे में कुछ स्पष्ट नहीं किया है। इसका मतलब यह है कि फिलहाल महंगाई भत्ते की गणना 50% से ऊपर ही जारी रहेगी। लेकिन इसे कब रीसेट किया जाएगा?

50 प्रतिशत DA बेसिक सैलरी में मर्ज होगा 

आपकी जानकारी के लिए बता दे की 2016 में सातवें वेतन आयोग के लागू होने के दौरान सरकार ने महंगाई भत्ते (डीए) को शून्य कर दिया था। कानून के मुताबिक, महंगाई भत्ता 50% पर पहुंचने पर इसे शून्य कर दिया जाएगा और 50% के हिसाब से कर्मचारियों को जो पैसा मुआवजे के तौर पर मिलेगा, उसे मूल वेतन यानी न्यूनतम वेतन में जोड़ दिया जाएगा। मान लीजिए किसी कर्मचारी का मूल वेतन 18,000 रुपये है, तो उसे 9,000 रुपये का 50% मिलेगा। लेकिन, जब डीए 50% होगा, तो उसे मूल वेतन में जोड़ दिया जाएगा और महंगाई भत्ता फिर से शून्य हो जाएगा। इसका मतलब है कि मूल वेतन 27,000 रुपये तक संशोधित किया जाएगा।

महंगाई भत्ता क्यों 0 होगा ?

बता दे की नया वेतनमान लागू होने पर कर्मचारियों को मिलने वाला डीए मूल वेतन में जुड़ेगा। जानकारों का कहना है कि सामान्य तौर पर कर्मचारियों को मिलने वाले डीए का 100 फीसदी मूल वेतन में जुड़ना चाहिए, लेकिन ऐसा संभव नहीं है। आर्थिक स्थिति इसके आड़े आती है। लेकिन 2016 में ऐसा किया गया। इससे पहले 2006 में जब छठा वेतनमान लागू हुआ था, तब दिसंबर तक पांचवें वेतनमान में 187 फीसदी डीए दिया गया था। सभी डीए मूल वेतन में शामिल हैं। इसलिए छठी वेतन योजना का गुणांक 1.87 हुआ। इसके बाद नया पे बैंड और वेतनमान भी बनाया गया। लेकिन इसे लागू होने में तीन साल लग गए।

महंगाई भत्ता कब शून्य होगा ?

जानकारों के मुताबिक, नए कॉस्ट कम्पन्सेशन की गणना जुलाई में की जाएगी। क्योंकि राज्य साल में दो बार ही कैरोसेल अलाउंस बढ़ाता है। जनवरी के लिए मंजूरी मार्च में दी गई थी। अब अगली समीक्षा जुलाई 2024 के लिए निर्धारित है। इस मामले में, कॉस्ट रिजर्व को केवल संक्षेप में प्रस्तुत किया जाएगा और स्क्रैच से गणना की जाएगी। यानी जनवरी से जून 2024 के बीच AICPI इंडेक्स तय करेगा कि कैरोसेल अलाउंस 3%, 4% या उससे कम होगा। जैसे ही यह स्थिति हल हो जाएगी, कर्मचारियों के मूल वेतन में 50% भत्ता जोड़ दिया जाएगा।

Disclaimer : दोस्तों, आज की इस आर्टिकल में हम आप सभी को 7th pay commission latest news से जुड़ी हर एक जानकारी को विस्तार से बताने की कोशिश किए हैं उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आप सभी को बेहद पसंद आया होगा हालांकि मैं आप सभी की जानकारी के लिए अवगत करा दूं कि यह सारी जानकारी इंटरनेट से ली गई है अगर किसी प्रकार के कोई गलतियां पाई जाती है तो हमारा यह निजी वेबसाइट जिम्मेवार नहीं माना जाएगा

Ritesh Raj
I am Ritesh Raj. I'm a blogger and content creator at skcresult.com. I have experience in various fields including government jobs updates, government schemes, latest news updates, tech trends, current events in various fields including sports, gaming, politics, government policies, finance and etc.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *